छम्मा छम्मा गर्ल का कांग्रेस से पांच महीनों में ही हो गया मोह भंग

बॉलिवुड की चर्चित ऐक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) जिन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) के दौरान कांग्रेस(Congress) का दामन थाम लिया था उन्होंने अब कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया है। । लेकिन पांच महीने के अंदर ही उन्होंने कांग्रेस से अपना त्यागपत्र दे दिया है। लोकसभा चुनाव में उर्मिला ने अपनी हार का ठीकरा स्थानीय कांग्रेस नेताओं पर फोड़ा था। उर्मिला ने मुंबई उत्तर लोकसभा सीट से बतौर कांग्रेस कैंडिडेट चुनाव लड़ा था लेकिन चुनाव में उन्हें बीजेपी के नेता गोपाल शेट्टी से करारी शिकस्त मिली थी।

उर्मिला ने कांग्रेस से त्यागपत्र देते हुए कहा है, ‘मैंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। पहली बार मेरे मन में इस्तीफे का विचार तब आया था जब मेरी लगातार कोशिशों के बावजूद तत्कालीन मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा (Milind devda) को लिखे 16 मई के मेरे खत के संबंध में पार्टी ने कोई ऐक्शन नहीं लिया।

इसके बाद इस खत में किए गए गोपनीय संवाद को बड़ी आसानी से मीडिया में लीक कर दिया गया। मेरे साथ यह एक घोर छल था। मेरे लगातार विरोध जाहिर करने के बावजूद पार्टी में किसी ने इसको लेकर क्षमा नहीं मांगी यहां तक कि चिंता भी नहीं जाहिर की। यही नहीं मेरे खत में जिन लोगों के नाम थे उनमें से कुछ को मुंबई नॉर्थ में कांग्रेस के घटिया प्रदर्शन के बावजूद नए पदों से नवाजा गया।’

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले उर्मिला ने मुंबई कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को एक गोपनीय खत लिखा था। इस खत में उन्होंने अपनी हार के लिए स्थानीय नेताओं पर उंगली उठाते हुए कमजोर रणनीति, कार्यकर्ताओं की अनदेखी और फंड की कमी को जिम्मेदार बताया था। यह गोपनीय खत लीक हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *