शरद पवार से इसलिए मिलीं और सिंधिया से इसलिए नही मिल सकीं सोनिया गांधी

पहले से तय ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya Scindhia) के साथ मुलाकात को टाल कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी(Sonia gandhi) ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार(Sharad Pawar) से मुलाकात की। एनसीपी प्रमुख शरद पवार महाराष्ट्र(Maharashtra) के विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र बातचीत करने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के दिल्ली स्थित घर पहुंचे। इस दौरान दोनों पार्टियों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर भी चर्चा हुई।

सालों से महाराष्ट्र(Maharashtra) में साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली एनसीपी(NCP) और कांग्रेस(Congress) के अध्यक्ष ने मंगलवार दोपहर बातचीत की। इस मुलाकात में दोनों नेताओं के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर चर्चा करने की खबर है। दोनों नेताओं की मुलाकात उस वक्त हुई है जब दोनों दलों की राज्य इकाइयों के नेताओं के बीच हाल के हफ्तों में कई दौर की बातचीत हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक राज्य की ज्यादातर सीटों को लेकर दोनों दलों के बीच सहमति बन चुकी है, लेकिन स्वाभिमानी पक्ष जैसे कुछ छोटे दलों के साथ तालमेल को लेकर गतिरोध है। उम्मीद है कि कांग्रेस महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से 111 सीटों पर और एनसीपी 104 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। वहीँ इस मुलाकात के चलते सोनिया गाँधी की ज्योतिरादित्य के साथ तय मुलाकात टल गई। सिंधिया आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष हैं। इसके अलावा आज महाराष्ट्र कांग्रेस की बैठक होने वाली है। जिसमें चुनावी एजेंडा तय किया जाएगा।

महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार

बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के चलते सभी पार्टियां जोरों से तैयारी कर रही हैं। जहाँ सालों से महागठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली बीजेपी और शिवसेना ने अपना प्रचार शुरू कर दिया है, वहीँ दोनों पार्टियों के बीच अंतरकलह भी चल रहा है। दूसरी तरफ कांग्रेस ने अभी तक महाराष्ट्र में किसी प्रकार का प्रचार शुरू नहीं किया है। साथ ही महाराष्ट्र में एनसीपी और कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता पार्टी छोड़ बीजेपी शिवसेना में शामिल हो रहे हैं। ऐसे में चुनावों में गठबंधन कर मज़बूत होने के लिए मनसे प्रमुख राज ठाकरे भी सोनिया गाँधी से मिल चुके हैं। महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहब थोराट भी इसी के चलते एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात कर चुके हैं और गठबंधन के सकारात्मक सन्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *