दिल्ली में कांग्रेस की बुरी हार के बाद सुभाष चोपड़ा और पीसी चाको का इस्तीफा कांग्रेस ने किया स्वीकार

दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस इस बार भी एक भी सीट नहीं जीत पाई। कांग्रेस ने एक बार फिर दिल्ली में अपना खाता भी नहीं खोला। पिछली बार कांग्रेस को 15% वोट दिए गए थे लेकिन इस बार यह और कम हो गए और इस बार कांग्रेस को 8% वोटिंग की गई। दिल्ली पर 15 साल तक राज करने वाली कांग्रेस सरकार की इस से ज्यादा बुरी हालत दिल्ली में पहले कभी भी नहीं हुई। वहीं दिल्ली के कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने और पीसी चाको ने अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था। अब बड़ी खबर है कि दोनों का ही इस्तीफा कांग्रेस ने मंजूर कर लिया है।

बता दे कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर कमाल का प्रदर्शन करते हुए 62 सीटें अपने नाम की है। वहीं बीजेपी जो दिल्ली में सरकार बनाने की बात कर रही थी उन्हें सिर्फ 8 सीटों पर ही संतुष्ट रहना पड़ा। बीजेपी को दिल्ली में इस बार 5 सीटें ज्यादा मिली हैं। पिछली बार आम आदमी पार्टी ने 67 सीटें जीती थी और बीजेपी के खाते में मात्र 3 सीट आई थी। वहीं इस बार बीजेपी ने दिल्ली में जीतने के लिए पूरा दम दिखाया। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में कई रैलियों को संबोधित किया। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने घर-घर जाकर लोगों से बातचीत भी की इस सबके बावजूद भी बीजेपी दिल्ली में मात्र 8 सीटें ही जीत सकी। वही आम आदमी पार्टी ने कहा था कि दिल्ली की जनता इस बार विकास पर वोट डालेगी। दिल्ली की जनता ने एक बार फिर अरविंद केजरीवाल को दिल्ली का सीएम चुना और अब 16 फरवरी के दिन अरविंद केजरीवाल सीएम पद के लिए शपथ ग्रहण करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © Newsnasha | CoverNews by AF themes.