बीएसपी को एक और झटका, बीजेपी में शामिल हुआ ये मुस्लिम नेता

उत्तर प्रदेश में बहुजन समाजवादी पार्टी को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। मायावती के काफी करीबी माने जाने वाले सलीम अहमद ने भी पार्टी से किनारा करते हुए भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। आपको बता दें कि प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ में सलीम अहमद को सदस्यता दिलाई है। जिसके बाद उनके समर्थकों में खुशी की लहर है।

बीएसपी पार्टी में महत्वपूर्ण मुस्लिम चेहरा

कानपुर और आसपास के क्षेत्रों में बीएसपी के मत्वपूर्ण मुस्लिम चेहरा के रूप में सलीम पार्टी से कई सालों से जुड़े रहे है और काफी सक्रिय माने जाते थे । 2006 में सलीम को बीएसपी ने महापौर का टिकेट दिया था जिसमे वो असफल रहे थे। 2014 में बीएसपी ने फिर से लोकसभा का टिकट देकर उनपर भरोसा जताया। इस बार भी उन्हें असफलता ही हाथ लगी। राजनीतिक कैरियर की बात करे तो पार्टी में भले ही मत्वपूर्ण चेहरा थे, लेकिन जीत के नाम पर असफलता ही हाथ लगी। गौरतलब है कि राजनीति के साथ साथ सामाजिक कार्यों में भी सलीम अहमद जुड़े हुए है।

अनुभव चक भी हो चुके है बागी

गौरतलब है कि सलीम अहमद से पहले अनुभव चक ने भी बीते महीने मायवती की नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था और पार्टी से इस्तीफा देने के लिए पार्टी कार्यलय पहुंच गए थे। जिस पर पार्टी कार्यलय का ताला देख भड़क उठे अनुभव चक ने कार्यलय के सामने पार्टी की नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी इतना ही नही उन्होंने पार्टी सुप्रीमों मायावती को बिकाऊ तक कह दिया था। अनुभव चक 2009 में बीएसपी से लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं।

मोहम्मद असलम की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *