टिकट की गारंटी मिलते ही हुई हरियाणा कांग्रेस के नेताओं की घर वापसी

हरियाणा(Haryana) में विधानसभा चुनावों के चलते सभी पार्टियों में राजनीति चरम पर है। हरियाणा कांग्रेस(Haryana Congress) में बदलाव के बाद रविवार को कुछ नेता ने कांग्रेस में वापसी की। वहीँ इससे हरियाणा में इनेलो (Indian National Lokdal) को एक बड़ा झटका लगा है। इंडियन नेशनल लोकदल के 4 वरिष्ठ नेता और एक निर्दलीय विधायक ने कांग्रेस(Congress) का दामन थामा है।

बीते रविवार हरियाणा कांग्रेस(Haryana Congress) में बदलाव के बाद इनेलो के 4 वरिष्ठ नेता और एक निर्दलीय विधायक ने कांग्रेस की सदस्यता ली। हरियाणा की राजनीति के धुरंधर अशोक अरोड़ा(Ashok Arora), जयप्रकाश(Jai Prakash) के साथ-साथ सुभाष गोयल(Subhash Goyal), प्रदीप चौधरी(Pradeep Chaudhary), गगनजोत सिंह संधू(Gaganjot Singh Sandhu) ने रविवार को कांग्रेस का हाथ थामा। कलायत से निर्दलीय विधायक और जाट लैंड के दिग्गज नेता जेपी ने भी कांग्रेस(Haryana Congress) का हाथ थाम लिया है। इसका मुख्य कारण आगामी चुनाव में टिकट(Ticket) देने की गारंटी बताया जा रहा है।

इस तरह हुए फेरबदल

गौरतलब है कि इनेलो के विघटन के बाद विधायक रणबीर गंगवा(Ranbir Gangwa) लोकसभा चुनाव से पहले ही भाजपा में शामिल हो गए थे। तब अटकलें लगाई गयी थी कि बीजेपी(BJP) गंगवा को हिसार लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ाएगी। लेकिन बीजेपी ने हिसार से पूर्व केंद्रीय मंत्री बिरेंद्र सिंह के पुत्र बृजेंद्र सिंह(Brijesh Singh) को टिकट दिया। लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद इनेलो के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष और पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा ने भी भाजपा नेताओं से राजनीतिक मुलाकात की थी। जानकारी के अनुसार उन्हें टिकट की गारंटी नहीं मिली। ऐसे में कांग्रेस में शामिल होने वाले नेताओं को टिकट देने की बात कही जा रही है। माना जा रहा है कि कांग्रेस इन सभी नेताओं को आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट ज़रूर देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *